भारतीय सेना ने बुलेप्रूफ हेल्मेट की खरीद को मंजूरी दी

भारतीय सेना ने बुलेप्रूफ हेल्मेट की खरीद को मंजूरी दी

अपने सैनिकों की व्यक्तिगत सुरक्षा बढ़ाने की दिशा में एक बड़ा कदम उठाते हुए भारतीय सेना ने 100,000-AK-47 संरक्षित ’हेलमेट हासिल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह इन विशेष बैलिस्टिक हेलमेटों की दुनिया की सबसे बड़ी खरीद में से एक होगा।

23 जून को, सेना के इन्फैन्ट्री निदेशालय ने इस खरीद पर रोक लगा दिया था। एक नई रिपोर्ट के मुताबिक निदेशालय ने 13 जुलाई को नई दिल्ली में कुछ हेलमेट निर्माताओं के साथ एक प्रारंभिक बैठक की जिसमे यह सुनिश्चित किया गया कि अगले साल फरवरी में इनकी खरीद के लिए प्रस्ताव फिर से जारी किया जाएगा। खरीद का बजट ज्ञात नहीं है, लेकिन प्रत्येक हेलमेट की कीमत 50,000 रुपये है, फिलहाल सेना इनकी खरीदी लिए 500 करोड़ रुपये तक के ऑर्डर को दे सकती है। नए हेलमेट ‘bulletproof patka’ की जगह लेंगे जो कि 1990 के दशक से प्रयोग में लाया जा रहा है।

प्रत्येक AK-47 बुलेट ध्वनि की गति से लगभग दुगुनी होती है और भारी मात्रा में 2,000 गतिज ऊर्जा का प्रवाह करती है जो बुलेप्रूफ जैकेट और हेलमेट पहने हुए लोगों पर भी घातक आघात पहुंचा सकती है। सेना जो नए बुलेप्रूफ हेलमेट की खरीद करने जा रही है उस पर AK-47 की गोलियां का प्रभाव काफी कम पड़ेगा जिससे हमारे जवानों को अतिरिक्त सुरक्षा मिलेगी।

सेना के नए हेलमेट में नाइट-विज़न गॉगल्स, टार्च, वीज़र्स और फेस शील्ड्स जैसे विभिन्न सहायक उपकरण भी होंगे।

डिफेंस से सम्बंधी समाचार और समीक्षाओं के लिए हमें अभी सब्सक्राइब करे और नियमित रूप से अपडेट प्राप्त करने के लिए घंटी आइकन पर क्लिक करें। इसके अलावा आप हमें ट्विटर और फेसबुक पर भी फॉलो कर सकते है।

Leave a Reply