हैरिस बोलीं- ट्रम्प कहें तब भी कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाऊंगी, पेन्स ने कहा- राजनीति बंद कीजिए, यह लोगों से जुड़ा मामला


अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के बीच गुरुवार को पहली और एकमात्र वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट साल्ट लेक सिटी में हुई। रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से उपराष्ट्रपति माइक पेन्स और डेमोक्रेट पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने इसमें हिस्सा लिया। हैरिस ने शुरुआत से ही आक्रामक रुख अपनाया। कहा- कोरोना के मुद्दे पर ट्रम्प सरकार पूरी तरह नाकाम साबित हुई। इसके हजारों उदाहरण दिए जा सकते हैं। इस पर माइक पेन्स ने कहा- हमने चीन से आने वाले लोगों पर रोक लगाई। हजारों अमेरिकियों की जान बचाई जा सकी। बहस को यूएसए टुडे की सुसान पेज ने मॉडरेट किया।

12 फीट की दूरी
वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट के दौरान दोनों कैंडिडेट्स के सामने प्रोटेक्शन ग्लासेस यानी शीशे लगाए गए थे। 12 फीट की दूरी रही। पहले यह 7 फीट ही तय की गई थी। पेन्स ने पहले ग्लासेस लगाने का विरोध किया था। बाद में इसके लिए तैयार हो गए।

कोरोनावायरस
पेन्स ने कहा- आप हर बात के लिए राष्ट्रपति ट्रम्प को गुनहगार क्यों ठहरा रही हैं। उन्होंने चीन से आने वाले लोगों पर रोक लगाकर दिखा दिया है कि वे कितने सख्त फैसले ले सकते हैं। उन्होंने हजारों लोगों की जान बचाई है।

हैरिस : यह सरकार दूसरी बार चुनाव जीतने लायक नहीं है। आप लोगों का भरोसा खो चुके हैं। ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने महामारी को छिपाने की कोशिश की। राष्ट्रपति महामारी को फेक बताते हैं। राष्ट्रपति और आपको 28 जनवरी को ही इस बारे में पता लग गया था। लेकिन, सरकार हाथ पर हाथ रखकर चुपचाप तमाशा देखती रही।

मॉडरेटर सुसान पेज ने पेन्स से पूछा- क्या आपने राष्ट्रपति से उनके संक्रमण और बढ़ती उम्र के बारे में पूछा? क्या वो बतौर राष्ट्रपति अपनी जिम्मेदारियां निभाने में सक्षम हैं।

पेन्स ने इस सवाल का जवाब नहीं दिया। यही सवाल पेज ने कमला हैरिस से बाइडेन के बारे में भी पूछा। दोनों ने साफ तौर पर कुछ नहीं कहा।

कोरोना वैक्सीन
वैक्सीन से जुड़े सवाल पर कमला ने कहा- वैक्सीन आ जाए और राष्ट्रपति ट्रम्प इसे लगवाने को कहें तो भी मैं नहीं लगवाऊंगी। हां, अगर डॉक्टर कहते हैं कि वैक्सीन लगवाई जा सकती है तो मैं सबसे पहले ऐसा करूंगी, लेकिन ट्रम्प की बात पर भरोसा नहीं कर सकती।

इस पर पेन्स ने कहा- आप वैक्सीन के मुद्दे पर भी सियासत कर रही हैं। हम लोगों को क्या मैसेज दे रहे हैं। राजनीति बंद कीजिए। यह लोगों की जिंदगी से जुड़ा मामला है।

अर्थव्यवस्था
हैरिस : बराक ओबामा के कार्यकाल में हम ओबामा केयर बिल लेकर आए थे। इससे 2 करोड़ अमेरिकियों को फायदा हुआ। हेल्थ इंडेक्स बेहतर हुआ। राष्ट्रपति और आपकी सरकार इस पर ताला लगा रही है। इससे इकोनॉमी पर भी बोझ बढ़ेगा। जिम्मेदारी कौन लेगा?

पेन्स : बाइडेन का इकोनॉमिक प्लान लागू करना तो चीन के सामने सरेंडर करना होगा। आप चीन के सामने घुटने टेकने का प्लान दे रही हैं। ट्रम्प ने कहा है कि वे टैक्स कम करेंगे। 4 लोगों वाली फैमिली की एवरेज इनकम 4 हजार डॉलर सालाना हो चुकी है। यह इसलिए हो सका क्योंकि हमने टैक्स कम किए।

अमेरिका-चीन संबंध
पेन्स : कई साल से बाइडेन चीन के चियर लीडर बने हुए हैं। हमने जब चीन के लोगों पर प्रतिबंध लगाए और सख्त कार्रवाई की तो आपकी पार्टी और बाइडेन ने इसका विरोध क्यों किया। क्या आप नहीं मानतीं कि कोरोनावायरस फैलाने के पीछे सिर्फ चीन का हाथ है।

हैरिस : ये दावा तो आप बिल्कुल नहीं कर सकते। आपके दौर में अमेरिका चीन के साथ ट्रेड वॉर हार चुका है। किसान दिवालिया हो रहे हैं। मैन्युफैक्चरिंग के लिहाज से हम मंदी के दौर में पहुंच चुके हैं। देश में नौकरियों की कमी हो गई।

अमेरिकी लीडरशिप
हैरिस ने कहा- हमारे सहयोगी अब ट्रम्प से ज्यादा इज्जत शी जिनिपिंग की करते हैं। हमें वादे निभाने चाहिए। दोस्तों का साथ देना चाहिए। ट्रम्प ने दोस्तों को धोखा दिया। पुतिन जैसे तानाशाह की मदद की।
पेन्स ने कहा- ये सरासर गलत है। ईरान में हमने जनरल सुलेमानी को मार गिराया। वो हमारे लिए खतरा था। हमने आईएसआईएस को खत्म कर दिया।

नस्लवादी हिंसा
हैरिस का आरोप- अश्वेतों से भेदभाव करते हैं ट्रम्प। उन्होंने अदालतों में 50 लोगों को नियुक्त किया। इनमें एक भी अश्वेत क्यों नहीं है। जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद हिंसा हुई। इस पर सही एक्शन नहीं लिया गया।
पेन्स का जवाब- हिंसा किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जो हुआ उसके लिए कोई बहाना नहीं बनाउंगा। लेकिन, ये कहना कि कानूनी एजेंसियां अश्वेतों से भेदभाव करती हैं, ये कानून और उन एजेंसियों का अपमान है।

पावर ट्रांसफर या सत्ता हस्तांतरण
मॉडरेटर ने पेन्स से पूछा- क्या चुनाव के बाद ट्रम्प शांतिपूर्ण सत्ता हस्तांतरण यानी पावर ट्रांसफर करेंगे। पेन्स का जवाब- साढ़े तीन साल से डेमोक्रेट्स सिर्फ एक काम कर रहे हैं। उनकी कोशिश है कि पिछले चुनाव के नतीजे ही बदल दिए जाएं।

ट्रम्प की हेल्थ पर पेन्स चुप
मॉडरेटर सुसान पेज ने पेन्स से पूछा- क्या अमेरिका के लोग राष्ट्रपति की सेहत के बारे में जान सकेंगे। इस सवाल का जवाब देने से पेन्स ने एक तरह से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा- इस बारे में गलत बातें फैलाई जा रही हैं। जो जरूरी होगी, वो जानकारी दी जाती रहेगी। पेन्स ने हैरिस को वाइस प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट बनने पर बधाई दी। कहा- ये सम्मान हासिल करने वाली वे पहली अश्वेत महिला हैं।

हैरिस ने कहा- बधाई के लिए शुक्रिया। लेकिन, राष्ट्रपति अपनी सेहत के बारे में जानकारी क्यों नहीं देते। ये बात आपको देश के सामने लानी चाहिए।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


गुरुवार को साल्ट लेक सिटी में पहली और एकमात्र वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट के दौरान डेेमोक्रेट पार्टी की कमला हैरिस और उप राष्ट्रपति माइक पेन्स। डिबेट उटाह यूनिवर्सिटी के कैंपस में हुई।

Leave a Reply