रूस अक्टूबर तक दूसरी कोरोना वैक्सीन तैयार कर सकता है, इस टीके ने शुरुआती स्टेज का ह्यूमन ट्रायल पूरा किया ; दुनिया में 3.17 करोड़ केस


रूस कोरोना की दूसरी वैक्सीन 15 अक्टूबर तक तैयार कर सकता है। इस वैक्सीन को साइबेरिया के वेक्टर इंस्टीट्यूट ने तैयार किया है। बीते हफ्ते ही इसके ह्यूमन ट्रायल का शुरुआती चरण पूरा किया गया। रूस की न्यूज एजेंसी ने वहां की एक कंज्यूमर सेफ्टी वॉचडॉग के हवाले से यह जानकारी दी। रूस में अब तक 11 लाख 15 हजार 810 संक्रमित मिले हैं, जबकि 19 हजार 649 मौतें हो चुकी हैं। बीते 10 दिनों से यहां हर दिन 5 हजार से ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं।

हालांकि, सरकार ने दावा किया है कि साल के आखिर तक कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी आम लोगों के लिए इस्तेमाल में लाई जा सकेगी। इस वैक्सीन को रूस के गामेलया रिसर्च सेंटर में तैयार किया गया है। दुनिया के दूसरे देशों में करीब 40 हजार लोगों पर इसका ह्यूमन ट्रायल शुरू हो चुका है।

दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.17 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 33 लाख 82 हजार 126 से ज्यादा हो चुकी है। अब तक 9 लाख 74 हजार 620 मौतें हो चुकी हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

इन 10 देशों में कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

संक्रमितमौतेंठीक हुए
अमेरिका70,98,6742,05,50343,47,494
भारत56,64,52790,21046,03,424
ब्राजील45,95,3351,38,15939,45,627
रूस11,22,24119,7999,23,699
पेरू7,76,54631,5866,29,094
कोलंबिया7,77,53724,5706,50,801
मैक्सिको7,05,26374,3485,06,732
साउथ अफ्रीका6,63,28216,118

5,92,904

स्पेन6,82,26730,904उपलब्ध नहीं
अर्जेंटीना6,52,17413,9525,17,228

अमेरिका : ट्रम्प का नया बयान
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने देश में कोरोनावायरस से हुई दो लाख मौतों को शर्मनाक बताया है। द गार्डियन ने इस बात की जानकारी दी है। मंगलवार को व्हाइट हाउस में मीडिया से बातचीत में एक ट्रम्प ने यह टिप्पणी की। एक रिपोर्टर ने उनसे पूछा था- देश में कोरोनावायरस से 2 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। आप इस पर क्या कहेंगे? इस पर ट्रम्प ने कहा- मेरे हिसाब से तो यह शर्मनाक है। लेकिन, मैं ये भी कहूंगा कि अगर हम सही वक्त पर सही कदम नहीं उठाते यह आंकड़ा ढाई लाख से ज्यादा हो सकता था। आपने यूएन में मेरा भाषण देखा होगा। चीन अगर चाहता तो कोरोना को अपने देश से बाहर नहीं देता। उन्होंने इस वायरस को दुनिया के हर हिस्से तक पहुंचाया।

ब्रिटेन : 6 महीने जारी रह सकते हैं प्रतिबंध

ब्रिटेन में संक्रमण की दूसरी लहर की पुष्टि खुद प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कर चुके हैं। अब खबर है कि ब्रिटेन में सरकार ने जो प्रतिबंध लगाए हैं वे 6 महीने तक भी जारी रह सकते हैं। हालांकि, लोग इसका विरोध कर रहे हैं। शादियों और खेल आयोजनों पर लगे प्रतिबंध भी जारी रह सकते हैं। मंगलवार को एक प्रोग्राम के दौरान बोरिस ने कहा- फुटबॉल मैचों के बारे में फिर से विचार किया जाएगा। वहां बहुत ज्यादा लोग जुटते हैं। अंतिम संस्कार में 30 से ज्यादा लोग नहीं आ सकेंगे। मास्क अनिवार्य होगा। लंदन और देश के बाकी हिस्सों में चलने वाली टैक्सियों को लेकर भी नई गाइडलाइन्स जारी की जा सकती हैं।

ब्रिटेन की एक मेट्रो ट्रेन में अकेला बैठा पैसेंजर। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने माना है कि देश में संक्रमण की दूसरी लहर आ चुकी है। जॉनसन ने ये भी संकेत दिए हैं कि संक्रमण रोकने के लिए जो प्रतिबंध लगाए हैं, वे 6 महीने भी जारी रह सकते हैं। (फाइल)

पेरू: दूसरी लहर का खतरा
पेरू के हेल्थ मिनिस्टर ने देश में लगातार तीसरे दिन मामले बढ़ने के बाद माना है कि यह दूसरी लहर का संकेत है। लुईस सुरेज ने कहा- जिस तरह के मामले बढ़ रहे हैं, उससे लगता है कि हम संक्रमण के दूसरे दौर में दाखिल हो चुके हैं। और यह अच्छे संकेत नहीं हैं। सरकार सख्त कदम उठा सकती है क्योंकि हमें लोगों को इस परेशानी से बचाना है। आप देख ही रहे होंगे कि स्पेन, बेल्जियम और इटली में भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। लैटिन अमेरिका में यह संकट काफी बड़ा हो चुका है।

पेरू के हेल्थ मिनिस्टर लुईस सुरेज ने कहा है कि देश में संक्रमण की दूसरी लहर का खतरा है। राजधानी लीमा समेत देश के कई हिस्सों में टेस्टिंग सेंटर पर भीड़ देखी जा रही है। (फाइल)

इजराइल: विरोध प्रदर्शन जारी
इजराइल में नेतन्याहू सरकार के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है। सरकार ने संक्रमण पर काबू पाने के लिए देश के कुछ हिस्सों में लॉकडाउन लगाया है, लेकिन लोग इसका पालन करने को तैयार नहीं हैं। अलजजीरा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इजराइल के कई शहरों में लोगों ने लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन किए। इन लोगों का आरोप है कि मार्च के बाद से उनकी जिंदगी पर बुरा असर पड़ा है।
कुछ सामाजिक संगठनों ने कहा है कि सरकार अपनी नाकामी का ठीकरा देश के लोगों पर फोड़ना चाहती है। सरकार ने शुक्रवार से तीन हफ्ते के लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसी दौरान यहूदियों का नया साल रोश हाशना मनाया जा रहा है। इसकी वजह से लोग ज्यादा नाराज हैं।

इजराइल में सरकार ने संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पिछले हफ्ते नए प्रतिबंध लगाए थे। लेकिन लोग इसका विरोध कर रहे हैं। (फाइल)

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


रूस की राजधानी मॉस्को में‘गैम-कोविड वैक्स’नाम की कोरोना वैक्सीन तैयार में जुटा रिसर्चर। रूस ने इस साल 15 अगस्त को पहला वैक्सीन तैयार करने का ऐलान किया था।- फाइल फोटो

Leave a Reply