मिलिट्री परेड में नई बैलिस्टिक मिसाइल का प्रदर्शन किया, यह 12 हजार किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक निशाना लगा सकती है


उत्तर कोरिया ने शनिवार को रूलिंग पार्टी का 75 वां स्थापना दिवस मनाया। इस मौके पर मिलिट्री परेड में देश की नई इंटर कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) प्रदर्शित की गई। इसके साथ ही दूसरे हथियारों को भी प्रदर्शित किया गया। रात के समय हुई इस परेड में आतिशबाजी की गई। हथियार से लदी गाड़ियों का एक लंबा काफिला भी निकाला गया। उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने इसकी जानकारी दी।

नई बैलिस्टिक मिसाइल को ट्रांसपोर्टर इरेक्टर लॉन्चर (टीईएल) के जरिए परेड में लाया गया। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, यह नई मिसाइल उत्तर कोरिया के पास पहले से मौजूद ह्वासोंग-15 मिसाइल से भी लंबी है। ह्वासोंग मिसाइल 12 हजार 874 किलोमीटर तक वार कर सकती है। यह यूएस कॉन्टीनेंट के किसी भी हिस्से को टारगेट कर सकती है।

सबमरीन लॉन्च बैलिस्टिक मिसाइल भी प्रदर्शित किया

उत्तर कोरिया में शनिवार को 2018 के बाद पहली बार मिलिट्री परेड निकाली गई थी। उत्तर कोरिया ने सबमरीन- लॉन्च बैलिस्टिक मिसाइल भी पेश किया। इसका नाम पुकुगसॉन्ग-4 है। यह देश में पहले तैयार की गई दूसरी मिसाइल्स की तुलना में ज्यादा दूरी तक निशाना साध सकती है। परेड में उत्तर कोरिया ने रूस में तैयार की गई शॉर्ट रेंज मिसाइल इस्कैंडर और कई रॉकेट लांचर भी प्रदर्शित किए।

ताकत बढ़ाना जारी रखेंगे: किम जोंग
तानाशाह किम जोंग ने मिलिट्री परेड को संबोधित करते हुए कहा- हम किसी भी जंग से बचने के लिए अपनी ताकत बढ़ाना जारी रखेंगे। यह हथियार पूरी तरह से हमारी सुरक्षा के लिए हैं। हम इसका कभी भी गलत या बेवजह इस्तेमाल नहीं करेंगे। हालांकि, कोई सेना हमारे ऊपर ताकत दिखाने की कोशिश करेगी तो उसे हम जरूर सजा देंगे। उसके खिलाफ हम अपनी पूरी ताकत से हमला करेंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


उत्तर कोरिया की मिलिट्री परेड में शनिवार को प्रदर्शित की गई बैलिस्टिक मिसाइल। फोटो उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने जारी की है।

Leave a Reply