डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा- मेरी बीमारी भगवान का आशीर्वाद, महामारी की चीन को बड़ी कीमत चुकानी होगी


राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार रात एक वीडियो जारी किया। इसमें कोरोनावायरस से जुड़े मुद्दों पर बातचीत की। इसी दौरान उन्होंने खुद के संक्रमित होने पर अजीब बात कही। ट्रम्प ने कहा- मैं इसे भगवान का आशीर्वाद मानता हैं। राष्ट्रपति के मुताबिक, पिछले हफ्ते संक्रमित होने के बाद उन्हें जो दवा दी गई, उससे वे जादुई तरीके से ठीक हो गए। इसी वीडियो में उन्होंने चीन को भी चेतावनी दी। कहा- महामारी के लिए चीन जिम्मेदार है और उसे इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी।
लेकिन, दवा अप्रूव्ड नहीं
ट्रम्प के मुताबिक, उन्हें एंडीबॉडी कॉकटेल दिया गया। इसे दवा कंपनी रेगेनेरॉन ने तैयार किया है। सरकार ने इसे मंजूरी तो नहीं दी है, लेकिन जिसे जरूरत हो वो इसका इस्तेमाल कर सकता है। दूसरी तरफ, रेगेनेरॉन ने भी बुधवार रात ही एक बयान जारी किया। इसमें कहा गया- हमने अपने एंटीबॉडी ड्रग कॉकटेल को फूड एंड ड्रग डिपार्टमेंट के पास अप्रूवल के लिए भेजा है, ताकि इमरजेंसी में इसका इस्तेमाल किया जा सके।

सियासी नुकसान की फिक्र
दरअसल, डोनाल्ड ट्रम्प ने जो वीडियो के जरिए जो बातें कही हैं, वे सियासी नुकसान की भरपाई की कोशिश हैं। ट्रम्प पहले तो कोरोना को मामूली फ्लू बताते रहे। जब खुद संक्रमित हो गए तो इस तरह की दलीलें दे रहे हैं। ये कौन भूल सकता है कि अमेरिका में अब तक महामारी के चलते 2 लाख 11 हजार लोगों की मौत हो चुकी है।

सोमवार को वॉल्टर रीड नेशनल मिलिट्री मेडिकल सेंटर से उनको डिस्चार्ज किया गया था। इसके बाद उन्होंने कहा था- कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। मैं 20 साल पहले से भी बेहतर महसूस कर रहा हूं। वे सच्चाई पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं।

कोई सबूत भी नहीं
इलाज के बाद ट्रम्प की त्वचा गहरे रंग की दिखाई दे रही थी। बुधवार रात उन्होंने नई दावा मिलने का दावा किया, लेकिन इसकी पुष्टि के लिए कोई सबूत नहीं दे सके। इसके बावजूद वे लोगों को इसके इस्तेमाल की सलाह दे रहे हैं। देश से कह रहे हैं कि हॉस्पिटल्स में यह दवाई जल्द से जल्द उपलब्ध होगी। कंपनी इसके लिए एफडीए से अप्रूवल मांग रही है। सरकार ने उसे 500 मिलियन डॉलर की मदद भी दी है। उसके पास सिर्फ 50 हजार लोगों के लिए दवाई है। यह भरोसा जरूर दिलाया जा रहा है कि साल के आखिर तक तीन लाख डोज तैयार हो जाएंगे।

एक्सपर्ट्स भी सहमत नहीं
सैन फ्रांसिस्को के हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर चिन होंग के मुताबिक- रेगेनेरॉन की दवा से 24 घंटे में ठीक होने का दावा एक लाख फीसदी गलत है। लेकिन, वे इसका दावा कर रहे हैं। दरअसल, राष्ट्रपति यह भरोसा दिलाने की कोशिश कर रहे हैं कि कोरोना का कारगर इलाज मिल चुका है। क्योंकि, 3 नवंबर को चुनाव है और वे बाइडेन से पीछे नजर आ रहे हैं।

चीन को चेतावनी
महामारी को लेकर राष्ट्रपति ट्रम्प ने एक बार फिर चीन को चेतावनी दी है। वीडियो में उन्होंने कहा- दुनिया के साथ उन्होंने (चीन ने) जो किया है, उसकी भारी कीमत चुकानी होगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Donald Trump: US President Trump on Coronavirus (COVID-19) and China | Here’s Latest US Election 2020 News From The New York Times

Leave a Reply