जो दवा बाजार में ही नहीं, उसके इस्तेमाल की सलाह दे बैठे ट्रम्प, कहा- मेरी बीमारी भगवान का आशीर्वाद


(मैगी हैबरमैन और केटी थॉमस) अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को सोशल मीडिया पर डेढ़ घंटे में 12 मैसेज और 2 वीडियो पोस्ट किए। इसमें कोरोना से जुड़े मुद्दों पर उन्होंने खुद के संक्रमित होने पर अजीब बात कही। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इसे भगवान का आशीर्वाद मानता हूं। पिछले हफ्ते संक्रमित होने के बाद मुझे जो दवा दी, उससे मैं जादुई तरीके से ठीक हो गया। आप भी जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।’’

ट्रम्प के अनुसार उन्हें एंटीबॉडी कॉकटेल दिया गया। इस दवा को रीजेनेरॉन कंपनी ने बनाया है। दूसरी तरफ, रीजेनेरॉन ने बुधवार को ही कहा कि उसने अपने एंटीबॉडी ड्रग कॉकटेल को फूड एंड ड्रग डिपार्टमेंट (एफडीए) के पास अप्रूवल के लिए भेजा है। फिलहाल यह दवा बाजार में उपलब्ध नहीं है।

इलाज के बाद ट्रम्प की त्वचा गहरे रंग की दिखाई दे रही थी। उन्होंने कहा कि मेरा इम्युन सिस्टम बहुत मजबूत है, इसलिए मेरे शरीर पर इसका कोई खास फर्क नहीं हुआ। सैन फ्रांसिस्को के हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर चिन होंग के मुताबिक- रीजेनेरॉन की दवा से 24 घंटे में ठीक होने का दावा पूरी तरह गलत है।

दरअसल, राष्ट्रपति यह भरोसा दिलाने की कोशिश कर रहे हैं कि कोरोना का कारगर इलाज मिल चुका है। क्योंकि, 3 नवंबर को चुनाव है और वे हर सर्वे में बाइडेन से पिछड़े दिख रहे हैं।

ट्रम्प सच्चाई पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं: एक्सपर्ट्स

एक्सपर्ट्स का कहना है कि डोनाल्ड ट्रम्प राजनीतिक नुकसान की भरपाई की कोशिश में हैं। ट्रम्प पहले तो कोरोना को मामूली फ्लू बताते रहे। अब जब खुद संक्रमित हो गए तो इस तरह की दलीलें दे रहे हैं। अमेरिका में यह बात कौन भूल सकता है कि यहां अब तक महामारी के चलते 2 लाख 11 हजार लोगों की मौत हो चुकी है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


ट्रम्प ने कहा- पिछले हफ्ते संक्रमित होने के बाद मुझे जो दवा दी, उससे मैं जादुई तरीके से ठीक हो गया।

Leave a Reply