आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग: जानें इसका महत्व और उपयोगिता


वर्तमान समय में हम सभी नें ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग’ के बारे में सुना ही होगा। लेकिन, क्या आप सभी इन शब्दों को समझते हैं कि ये क्या है? सरल भाषा में बताएं तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कंप्यूटर विज्ञान का एक क्षेत्र है जो एक कंप्यूटर सिस्टम बनाता है जो मानव बुद्धि की नकल कर सकता है।

यह दो शब्दों “आर्टिफिशियल” और “इंटेलिजेंस” से बना है, जिसका अर्थ है “मानव निर्मित सोच शक्ति।” इसलिए हम ये कह सकते हैं कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसी तकनीक है जिसका उपयोग करके हम ऐसे बुद्धिमान सिस्टम बना सकते हैं जो मानव बुद्धिमत्ता का अनुकरण कर सके। वहीँ ’मशीन लर्निंग डेटा से ज्ञान निकालने के बारे में है। इसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, जो मशीनों को स्पष्ट रूप से प्रोग्राम किए बिना पिछले डेटा या अनुभवों से सीखने में सक्षम बनाता है। ऐसे में सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी मध्य भारत में पहली ऐसी यूनिवर्सिटी है जो B.Sc. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग पाठ्यक्रम लायी है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग भविष्य में विकास लाने में बहुत सहायक होंगे। क्योंकि इसमें विश्व अर्थव्यवस्था की वृद्धि को बढ़ावा देने की क्षमता है। एक शोध के अनुसार AI 2035 तक वार्षिक वित्तीय विकास दर को दोगुना कर सकता है। AI लोगों के काम करने की प्रकृति को बदल देगा, मानव और मशीनों के बीच एक नया संबंध बनाएगा। AI नेतृत्व वाली उद्योग क्रांति की बढ़ती मांग ने प्रशिक्षित शोधकर्ताओं के लिए एक पूल को स्थिर करने की आवश्यकता तैयार की है।

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी का B.Sc. प्रोग्राम –

यह भोपाल में सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा विशेष रूप से पेश किया गया एक एडवांस प्रोग्राम है। इसके तहत, छात्रों को इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स द्वारा विश्वविद्यालय परिसर में फेस-टू-फेस सेशन के माध्यम से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) के बारे में अध्ययन करने का मौका मिलेगा। इसकी शुरुआत पहले सेमेस्टर से ही हो जाएगी जो अंतिम सेमेस्टर तक होगी । B.Sc आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग कोर्स भोपाल में सर्टिफिकेशन कोर्स और प्रोजेक्ट-आधारित लर्निंग प्रदान करता है। छात्रों को मशीन लर्निंग कंपोनेंट्स, इनटेलीजेंस रिज़निंग और विभिन्न AI टूल्स और टेक्नोलॉजी का हाथों- हाथ अनुभव प्राप्त होता है।

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के BCA प्रोग्राम –

3 साल का ये एडवांस प्रोग्राम उन छात्रों के लिए बनाया गया है जो भविष्य के विकास का पता लगाना चाहते हैं। यह कार्यक्रम भोपाल में सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा विशेष रूप से पेश किया गया फुल टाइम प्रोग्राम है। इसके माध्यम से छात्र स्टैटिक्स और गणित में एक मजबूत आधार बना सकते हैं। यहां इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स द्वारा फेस-टू-फेस सेशन का भी आयोजन किया जाता है। ये प्रोग्राम भी पहले सेमेस्टर से लास्ट सेमेस्टर तक रहता है।​​​​​​​

इन कोर्सेज़ को करने के लिए केवल सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी ही क्यों बेहतर है?

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी का उद्देश्य शैक्षणिक क्षेत्र की चुनौतियां, व्यावहारिक प्रदर्शन और परिणाम आधारित शिक्षण के माध्यम से शिक्षा का सामंजस्य बनाना है। विश्वविद्यालय को उद्योग और शिक्षा के बीच एक गठबंधन के संबंधों को सुधारने के लिए जाना जाता है। विश्वविद्यालय स्थानीय, राष्ट्रीय और वैश्विक चुनौतियों को पहचानते हुए प्रभावशाली शोध करता है। सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी ने विश्व स्तर की शिक्षा का एक उल्लेखनीय मानक स्थापित किया है, जिसके लिए यह देश भर में प्रसिद्ध हो गया है। सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी की प्राथमिकता केवल शैक्षिक मानदंडों के माध्यम से नहीं है, बल्कि अत्याधुनिक बुनियादी सुविधाओं के कारण भी है।​​​​​​​

द कैम्पस लाइफ: उच्च शैक्षणिक संस्थानों में से एक होने के नाते, सैम विश्वविद्यालय परिसर में अध्ययन करने वाले छात्रों को सभी नवीनतम सुविधाएं प्रदान की जाएंगी जैसे कि:

● खेल सुविधाएं: विभिन्न खेल सुविधाओं जैसे बास्केटबॉल, बैडमिंटन, टेनिस, क्रिकेट, आदि की सुविधा।

● कैफेटेरिया: विश्वविद्यालय यह सुनिश्चित करता है कि छात्रों को खानपान और वेंडिंग मशीनों के साथ स्वस्थ और स्वच्छ भोजन प्रदान किया जाए।

● लाइब्रेरी: छात्रों को पूर्णत ऑटोमेटेड लाइब्रेरी देने के लिए यहां 60,000 से अधिक पुस्तकों का संग्रह है।

● इंटरनेट / वाई-फाई: 24 * 7 वाई-फाई सक्षम परिसर।

● व्यायामशाला: छात्रों और फैकल्टी सदस्यों के लिए आधुनिक उपकरणों और मशीनों से युक्त एक अच्छी तरह से सुसज्जित जिम।

● छात्रावास सुविधा: इनडोर खेल जैसे शतरंज, कैरम, टीटी इत्यादि के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के साथ अलग-अलग लड़कों और लड़कियों के छात्रावास।

क्या हैं ये कोर्स:

3 साल के ये अंडर ग्रेज़ुएट प्रोग्राम B.Sc. और BCA को AI और मशीन लर्निंग में विशेषज्ञता के साथ बनाया गया है। जिसे एडवांस शिक्षण प्रणालियों में प्रोफेशनल तकनीकी के रूप से डिज़ाइन किया गया है जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के एल्गोरिदम पर आधारित हैं। ये कार्यक्रम छात्रों में विभिन्न प्रकार की स्किल्स का निर्माण करते हैं। साथ ही छात्रों द्वारा उत्पादन में 100% सटीकता सुनिश्चित करने वाली विश्लेषणात्मक जानकारी के साथ एकीकृत सबसे तेज काम करने वाले ऐप या समाधान बनाने के कौशल का विकास करते हैं। AI एंड मशीन लर्निंग के क्षेत्र में रूचि रखने वाले, किसी भी स्ट्रीम के छात्र 12वीं के इच्छुक छात्र इन कोर्स में दाख़िला ले सकते हैं।​​​​​​​

इन कोर्स के माध्यम से रोजगार के बढ़ते अवसर:

इन कोर्स का सामाजिक-आर्थिक विकास के लगभग सभी क्षेत्रों में व्यापक महत्व है। AI अस्पिरेंट के रूप में, आपके पास इस क्षेत्र में नौकरी के पर्याप्त अवसर हो सकते हैं। कुछ AI नौकरियों में मशीन लर्निंग इंजीनियर, डेटा साइंटिस्ट, बिज़नेस इंटेलिजेंस डेवलपर, रिसर्च साइंटिस्ट, AI इंजीनियर आदि शामिल हैं। ऐसे में इन कोर्स के माध्यम से आप जो भी सपना देखते हैं उसे पूरा कर सकते हैं। जैसा कि आप देख सकते हैं कि ये कोर्स भविष्य और एडवांस दुनिया में हर जगह फिट बैठते है, ऐसे में सैम यूनिवर्सिटी आपको AI और मशीन लर्निंग के क्षेत्र में सीखने और नेतृत्व करने का सबसे अच्छा अवसर प्रदान कर रही है। सैम-ग्लोबल विश्वविद्यालय के माध्यम छात्र एडवांस टेक्नोलॉजी को न केवल सीख पाएंगे बल्कि भविष्य में आने वाली हर टेक्नोलॉजी के साथ सामंजस्य बैठा पायेंगे और अपने लिए सबसे उज्ज्वल भविष्य का निर्माण कर सकेंगे।​​​​​​​

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Artificial Intelligence and Machine Learning: Learn its importance and utility

Leave a Reply